कांग्रेस और बसपा के साथ गठबंधन नहीं करेंगे अखिलेश

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों ने तैयारियां शुरू कर दी हैं। समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव तो मिशन 2022 के लिए बसपा के बागी विधायकों को अपने पाले में करना चाहता है और इसके लिए उन्होंने मंगलवार को उनसे मुलाकात की। लेकिन बागी विधायकों के साथ अखिलेश की मुलाकात बसपा प्रमुख मायावती को रास नहीं आई। उन्होंने ट्वीट कर सपा के चाल, चरित्र व चेहरा पर सवाल खड़ा किया। इसी बीच अखिलेश यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी में कोई विधायक स्तर का नेता आता है तो उसका पूरा-पूरा सम्मान किया जाएगा। उन्होंने इसी के साथ कहा कि भाजपा के नेता भी आना चाहते हैं क्योंकि उन्हें लगता है कि बहुत से साथियों के टिकट कट सकते हैं। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने दावा किया कि आगामी विधानसभा चुनाव में समाजवादी पार्टी 350 से ज्यादा सीटें जीतेगी।

सपा प्रमुख ने कहा कि कांग्रेस और बसपा के साथ गठबंधन हो चुका है और आने वाले समय में इन दलों के साथ गठबंधन नहीं किया जाएगा। हालांकि उन्होंने यह स्पष्ट किया कि वह छोटे दलों के साथ गठबंधन करेंगे। इंटरव्यू में अखिलेश यादव ने चाचा शिवपाल यादव के दल के बारे में भी अपनी राय व्यक्त की। उन्होंने साफ शब्दों में कहा कि शिवपाल यादव की सीट जसवंतनगर पर वह अपना उम्मीदवार नहीं उतारेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि आगे परिस्थिति बनी तो उस पर भी विचार किया जाएगा। इस दौरान अखिलेश यादव ने बताया कि समाजवादी पार्टी का अभी गठबंधन आरएलडी, महान दल और जनवादी पार्टी के साथ है। बाकी छोटे दलों के साथ संपर्क में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *